कान्हा की नगरी में मची होली की धूम

योगेश भरद्वाज, एएनएम न्यूज़, मथुरा: कान्हा की नगरी मथुरा में होली पर्व की घूम मची हुई है । बृज मंडल के प्रमुख श्री द्वारिकाधीष मंदिर मे होली बगीचे का भव्य आयोजन किया गया। बृज मे श्रीद्वारिकाधीष मंदिर का अपना अलग ही महत्व है । होली की मस्ती मे सराबोर श्रद्वालु होली के रंगो मे सराबोर नजर आये । होली बगीचे के माध्यम से अराध्य ठाकुरजी अपने भक्तो के साथ टेसू केसर के रंगो से होली खेलते है। श्रीद्वारिकाधीष मंदिर मे होली की अनोखी छटा देखते ही बन रही थी पूरो मंदिर प्रांगण होली पर्व की मस्ती मे डूबा हुआ था इस होली को देखने के लिये बडी संख्या मे श्रद्वालु उमडे हुए थे वही विदेशी श्रद्वालु भी होली की मस्ती मे डूबे नजर आये । श्रद्वालुओ का कहना है कि बृज मंडल जैसी होली अन्यत्र कही नही होती है । इसी प्रकार बृज के अन्य सभी प्रमुख मंदिरो मे भी होली पर्व की घूम मची हुई है । पूरा बृज मंडल होली की मस्ती मे डूबा हुआ है ।

प्रधानमंत्री का ‘मैं भी चौकीदार’ का आगाज़

एएनएम न्यूज़ डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी लोकसभा चुनावों से पहले एक अभियान के रूप में ‘मैं भी चौकीदार’ ऑडियो ब्रिज के माध्यम से 25 लाख से अधिक चौकीदारों को संबोधित करने के लिए तैयार हैं। प्रधानमंत्री ने होली के रंगों को दर्शकों के साथ साझा किया।

पीएम मोदी चौकीदारों के महत्व पर प्रकाश डालेंगे क्योंकि वे बिना छुट्टी लिए चौबीसों घंटे काम करते हैं।

मोदी 31 मार्च को देश के 500 स्थानों पर ‘मैं भी चौकिदार’ समर्थकों के साथ बातचीत करेंगे।

(VBA) नेता ने शरद पवार से दाऊद को लेकर किये सवाल

एएनएम न्यूज़, डेस्क: नचिट बहुजन अघाड़ी (VBA) के नेता प्रकाश अंबेडकर ने जब एनसीपी चीफ शरद पवार से पूछा कि उन्होंने उपेक्षा क्यों की, जो 1990 के दशक में अपराधी दाऊद इब्राहिम के आत्मसमर्पण करने का प्रस्ताव चाहते थे।

अम्बेडकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, पवार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे जब दाऊद वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी से मुलाकात की और भारत में अधिकारियों के सामने आत्मसमर्पण करने की इच्छा व्यक्त की थी।

अंबेडकर ने पुलवामा हमले का भी जिक्र किया और कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए तैयार नहीं था।

भूस्खलन और शूटिंग पत्थरों के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग में यातायात बाधित

यवर शफी, श्रीनगर: कश्मीर के मैदानी सतह के निचले हिस्सों में हल्की बूंदाबूंदी हुई, जिससे श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग भारत के बाकी हिस्सों को घाटी से जोड़ता है, ताजा भूस्खलन और शूटिंग पत्थरों के कारण यातायात की आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है।

ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, “हमने बुधवार सुबह रामनगर और रामसू के बीच पंथाल और अन्य स्थानों पर भूस्खलन और शूटिंग पत्थरों के कारण श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर यातायात आंदोलन को निलंबित कर दिया है।”

अमित साह और कुमारस्वामी के बीच चुनावी युद्ध

एएनएम न्यूज़ डेस्क: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने बेंगलुरु में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यक्रम पर बहस की जिसमें मोदी समर्थकों को कथित तौर पर पुलिस द्वारा वापस पकड़ लिया गया।

अमित शाह ने कार्रवाई को हल्के में नहीं लिया और ट्वीट किया कि मुफ्त भाषण लागू नहीं किया जा रहा है। कुमारस्वामी ने कहा कि भाजपा समर्थकों को सार्वजनिक रूप से उचित व्यवहार करने के लिए कहा जाना चाहिए। कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने कहा कि किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया, लेकिन दावा किया कि भाजपा-आरएसएस कार्यकर्ताओं ने भीड़ को उकसाने का प्रयास किया।

लोकसभा चुनाव में बसपा प्रमुख मायावती का बड़ा फैसला

एएनएम न्यूज़, डेस्क: बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने आज बड़ा एलान करते हुए कहा कि वह इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। लोकसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी से गठबंधन करने वाली बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को कहा कि वह चुनाव तो नहीं लड़ेंगी, लेकिन बसपा के सभी कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा की वे भाजपा को हराने के लिए एकजुट हों।

मायावती ने पार्टी दल से यह भी अपील कि की दलों के समर्थकों को आपसी मतभेद और गिले शिकवे भुलाकर जी-जान से अहंकारी व जातिवादी भाजपा सरकार को हराने के लिए काम करना है। मेरी जीत की जिम्मेदारी कार्यकर्ताओं की है, वह पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करेंगी, बाद में यदि जरूरत पड़ी तो वह किसी भी सीट से चुनाव लड़ सकती हैं।

मायावती ने दावा किया कि गठबंधन को सर्वसमाज का भारी समर्थन मिल रहा है। मायावती ने कांग्रेस को धोखेबाज बताया और नाराजगी जताई मायावती भाजपा पर ज्यादा हमलावर रहीं। उन्होंने कहा कि भाजपा की जातिवादी, सांप्रदायिक व गरीब-मजदूर विरोधी नीतियों से जनता पीछा छुड़ाना चाह रही है। जनता ऐसी भाजपा सरकार को दूर से राम-राम करेगी। हार के डर से भाजपा नेता अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।

लोकसभा चुनावी बिगुल में झारखंड की सीटों पर भाजपा करेगी फैसला : 22 मार्च

एएनएम न्यूज़, डेस्क: मंगलवार को हुई नई दिल्ली में हुई पार्टी की बैठक में बड़े राज्यों के उम्मीदवारो पर चर्चा हुई जहां खासकर पहले और दूसरे चरण में मतदान है। लोकसभा चुनाव के लिए झारखंड की सीटों से भाजपा उम्मीदवारों का फैसला अब 22 मार्च की बैठक में होगा। झारखंड में मतदान की शुरुआत चौथे चरण से होनी है इसलिए इसपर फैसला टाला गया है। इसके पूर्व टिकट बंटवारे की एक्सरसाइज भाजपा में पूरी हो गई है।
मुख्यमंत्री रघुवर दास मंगलवार को नई दिल्ली गए और चुनाव से संबंधित चर्चाओं में वे शीर्ष नेताओं के साथ शामिल हुए। दरअसल, झारखंड में भाजपा का सीधा मुकाबला महागठबंधन से ही होगा। इसीलिए महागठबंधन को लेकर भाजपा कुछ ज्यादा ही गंभीर है। प्रदेश भाजपा ने संभावित प्रत्याशियों पर रांची के साथ-साथ दिल्ली में भी काफी मंथन किया है।

भाजपा गठबंधन की सूची फाइनल होने का इंतजार कर रही है। चुनाव की घोषणा के बाद के सर्वे में भी झारखंड से जो रिपोर्ट आई है, उसमें यूपीए कुछ भारी पड़ता दिखाई दे रहा है। हालांकि, प्रत्यक्ष तौर पर भाजपा महागठबंधन की चुनौती को नकार रही है और एनडीए के सभी 14 सीटों पर जीत का दावा भी कर रही है।

झारखंड में चौथे चरण से चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी। इसलिए उम्मीदवारों की घोषणा को लेकर भाजपा को कोई हड़बड़ी भी नहीं है। पार्टी होली के बाद ही सीटों के बंटवारे की घोषणा करेगी।

चोरो की चालाकी आई सीसीटीवी फुटेज में नज़र

लोकेश व्यास, एएनएम न्यूज़, जोधपुर: बूंदी शहर में गिरीश नगर में लम्बे समय से चोरी की वारदातों का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है।ऐसे में सोमवार रात को भी चोरो ने एक सुने मकान में लाखो के जेवरात सहित 80 हजार की नकदी पर किया हाथ साफ, इसके अलावा दी अन्य केबिनों के भी ताले तोड़े गये लेकिन वहां उन्हें कुछ हाथ नही लगा ,सुचना मिलने पर सदर थाना पुलिस ने मौके पर मुआयना कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर नजर आ रहे दोनो संदिग्धों की तलाश शुरू कर दी है।

कुर्सी पर बैठने पर सरपंच के साथ किया दुर्व्यवहार; विधायक दिव्या मदेरणा

लोकेश व्यास, एएनएम न्यूज़, जोधपुर: जोधपुर के ओसिया क्षेत्र के खेतासर गावं से कुछ तस्वीरें वायरल हो रही है जिसमे एक विधायक महिला का अहंकार तो दूसरी महिला सरपंच को धुत्कार झेंलनी पड़ रही है ओसियां क्षेत्र के खेतासर गांव में इन्हे सम्मान सभा के लिए बुलाया गया था। पहले आप इन तस्वीरों को देख लीजिए इन तस्वीरों में एक महिला कुर्सी पर बैठी है तभी दूसरी महिला आकर उसके साथ वाली कुर्सी पर बैठ जाती है इतने में पहले से कुर्सी पर बैठी महिला दूसरी महिला को कुर्सी से उठने को कहकर हाथ से इशारा करते हुए सामने बैठने को कहती है महिला ना चाहते हुए भी सामने पुरुषों के साथ जाकर बैठ जाती है चलिए एक बार यह तस्वीरें हम आप को वापस दिखाते हैं और इन तस्वीरों में जो कुर्सी पर बैठी महिला है उनका हम आपको परिचय करवा देते हैं यह महिला दिव्या मदेरणा है पद ओसियां विधानसभा की कांग्रेस विधायक पार्टी विधायक बनी है।
दिव्या मदेरणा कांग्रेस पार्टी से विधायक हैं जिसके अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी एक दो बार नहीं बल्कि कई बार महिलाओं की आरक्षण की बात करते आ रहे हैं भारत एक लोकतांत्रिक देश है यहां पंच से लेकर सांसद का चुनाव जनता ही करती है ऐसे में दिव्या मदेरणा का अपनी महिला सरपंच के साथ ऐसा व्यवहार, दिव्या मदेरणा भले ही 2018 चुनाव जीती और राजनीति में पहली बार आई हो मगर दिव्या की परवरिश राजनीति माहौल में ही हुई है दिव्या के दादा परशुराम मदेरणा सीएम पद के प्रबल दावेदार रहे तो पिता महिपाल मदेरणा राजस्थान सरकार में मंत्री रह चुके हैं माता लीला मदेरणा राज्यसभा चुनाव में खड़ी हुई थी मगर उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

यहाँ बात विधायक और सरपंच की नहीं कर रहे हैं बल्कि एक महिला की कर रहे हैं जो दूसरी महिला का सम्मान नहीं करती हैं जिस राजस्थान में महिलाओं को लंबे लंबे घूंघट में रहना पड़ता है जहां बाल विवाह जैसी कुप्रथा हो जहां बेटियों को गर्भ में ही मार दिया जाता है ऐसे राजस्थान में एक महिला दूसरी महिला के लिए यह व्यवहार करती है वह भी तब जब आप एक सार्वजनिक मंच पर हो ऐसे में एक विधायक का एक सरपंच से यह व्यवहार कहीं ना कहीं सोचने पर मजबूर कर देता है।

महात्मा गाँधी अस्पताल की दयनीय स्तिथि का वीडियो हुआ वायरल

लोकेश व्यास, एएनएम न्यूज़, जोधपुर: विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आम जनता को समुचित इलाज उपलब्ध कराने का दावा करने वाली सरकारों के दावे जमीनी हकीकत पर खोखले साबित हो रहे हैं। प्रदेश के दूसरे बड़े शहर जोधपुर के सबसे बड़े अस्पताल महात्मा गांधी अस्पताल में व्यवस्थाओं को एक्सपोज करने वाला एक वीडियो वायरल हुआ है। ऑर्थोपेडिक्स वार्ड का यह वीडियो अस्पताल की व्यवस्थाओं को बयां कर रहा है । ऑर्थोपेडिक्स में जांच के लिए आने वाले मरीजों को स्ट्रेचर तक उपलब्ध नहीं होता है जिसके चलते परिजन मरीज को गोद में उठाकर लाने को मजबूर होते हैं। कई बार परिजन मरीज को जमीन पर रगड़ कर ले जाते हैं। दर्द से कराहते हुए मरीजों की आवाज सुनने के बाद भी अस्पताल के जिम्मेदार कर्मचारियों के कानो पर जूं तक नहीं रेंगता है। जब उन्होंने अस्पताल कर्मियों से स्ट्रेचर देने की मांग की तो उन्होंने स्ट्रेचर देने से साफ़ मना कर दिया। वहीं अस्पताल अधीक्षक ने भी माना कि इस तरह की लापरवाही वास्तव में शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि इस व्यवस्थाओं को सुधारने का प्रयास किया जाएगा और इस घटना क्रम में जो भी दोषी है उसकी जांच करवाई जाएगी।