नरेंद्र मोदी आज महाराष्ट्र के ठाणे पुणे मेट्रो की बुनियाद रखेंगे

मुरारी सिंह, मुंबई: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 41,000 करोड़ रुपये की आवासीय एवं मेट्रो परियोजनाओं की बुनियाद रखेंगे। मुंबई से सटे कल्याण में दो मेट्रो परियोजनाओं का भूमिपूजन के अलावा दो अन्य कार्यक्रमों में भाग लेंगे। इसके बाद वे पुणे में मेट्रो तीन परियोजना का भूमिपूजन करेंगे। प्रधानमंत्री मंगलवार सुबह मुंबई पहुंचेंगे। इसके बाद वे दक्षिण मुंबई स्थित एक पांच सितारा होटल में एक अंग्रेजी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में शरीक होंगे।

मेट्रो भूमि पूजन मंच पर आमंत्रित है शिवसेना पक्ष प्रमुख उधव ठाकरे एमएमआरडीए द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में उधव ठाकरे को निमंत्रण दिया गया है। देखना यह होगा कि उद्धव ठाकरे क्या प्रधानमंत्री के इस मंच पर मंच साझा करते हैं, या नहीं यहीं से होगा 2019 के शिवसेना बीजेपी गठबंधन के संकेत ?

राजस्थान में नयी सुबह: आज मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री ने लिया शपथ

मनोज शर्मा, राजस्थान: आज राजस्थान में नयी सुबह की सुचना होने जा रही है. नए मुख्यमंत्री के शपथग्रहण समारोह के लिए उनके स्वागत को तैयार है राजस्थानवासी.

आनुष्ठानिक रूप से आज जयपुर के एल्बर्ट हॉल प्रांगण में प्रदेश के नये मुख्यमंत्री के रूप में अशोक गहलोत और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली ।

कौन है भूपेश बघेल?

धर्मेंद्र महापात्र, छत्तीसगढ़: अपने तेवरों से छत्तीसगढ़ की राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान बनाने वाले राजनेताओं में शुमार बघेल का नाता विवादों से भी कम नहीं रहा है.सीडी कांड की वजह से भूपेश बघेल सुर्खियों में रहे हैं. इसके चलते उन्हें जेल जाना पड़ा, लेकिन उन्होंने जमानत लेने से इनकार कर दिया था.

बघेल ने राजनीति में अपनी पारी की शुरुआत यूथ कांग्रेस के साथ की. दुर्ग जिले के रहने वाले भूपेश यहां के यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बने. भूपेश बघेल का जन्म 23 अगस्त 1961 को दुर्ग जिले के पाटन तहसील में हुआ था. किसानों के मुद्दों पर आक्रामक कौशल के लिए वे काफी फेमस भी हैं. साल 1985 में उन्होंने यूथ कांग्रेस ज्वॉइन किया. 1993 में जब मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव हुए तो पहली बार पाटन विधानसभा से वे विधायक चुने गए.

इसके बाद अगला चुनाव भी वे पाटन से ही जीते, जिसमें उन्होने बीजेपी के निरुपमा चंद्राकर को हराया. जब मध्यप्रदेश में दिग्विजय सिंह की सरकार बनी, तो भूपेश बघेल कैबिनेट मंत्री बने. साल 1990-94 तक जिला युवा कांग्रेस कमेटी दुर्ग (ग्रामीण) के वे अध्यक्ष रहे. 1994-95 में मध्य प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष चुने गए.

साल 1999 में मध्य प्रदेश सरकार में परिवहन मंत्री और साल 1993 से 2001 तक मध्य प्रदेश हाउसिंग बोर्ड के डायरेक्टर की जिम्मेदारी भूपेश बघेल ने संभाली.साल 2000 में जब छत्तीसगढ़ राज्य बना और कांग्रेस की सरकार बनी तब जोगी सरकार में वे कैबिनेट मंत्री रहे. 2003 में कांग्रेस जब सत्ता से बाहर हुई तो भूपेश को विपक्ष का उपनेता बनाया गया. साल 2003 में हुए विधानसभा चुनाव में पाटन से उन्होने जीत दर्ज की. 2008 में बीजेपी के विजय बघेल से भूपेश चुनाव हार गए. फिर साल 2013 में पाटन से उन्होने जीत दर्ज की. 2014 में उन्हें छत्तीसगढ़ कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया.

राहुल गाँधी को जान से मरने की धमकी; कांग्रेस में दरार खुलकर आया सामने

लोकेश व्यास, जोधपुर: राजस्थान में विधान सभा चुनाव के बाद कोंग्रेस एक बार फिर सत्ता में आ गयी लेकिन राजस्थान में सुरु से ही मुख्यमंत्री पर सस्पेंस बना हुआ था और अब यही सस्पेंस कोंग्रेस आला कमान की गले की हड़ी बन गया है एक तरफ सचिन पायलट के समर्थक यह मांग कर अपना विरोध जता रहे हे की मुख्यमंत्री का पद सचिन पायलट को मिले और इस बात पर सचिन पायलट के समर्थक सड़कों पर उत्तर आये है और विरोध कर रहे हे वही अशौक गहलोत के समर्थक सांति पूर्ण से अशौक गहलोत की मुख्यमंत्री पद की मांग कर रहे हे कल देर रात दिल्ली में हाईकमान से सचिन और गहलोत की वार्ता के बाद भी अभी भी कोई हल नहीं निकल पाया ऐसे माहौल में कल दोपहर को एक वीडियो सोसल मिडिया पर जोरो से वायरल हुआ वायरल वीडियो में एक व्यक्ति कह रहा है कि सचिन पायलेट को मुख्यमंत्री नही बनाया तो राहुल और गहलोत को जान से मारने की धमकी देते का वीडियो हो रहा सोसल मिडिया पर वायरल.

वीडियो में व्यक्ति अपने आप को कमल सिंह पोसवाल हिस्ट्रिसिटर करौली डिस्टिक का निवासी बता रहा है वायरल वीडियो में व्यक्ति यह भी कह रहा है कि अगर सचिन पायलट मुख्यमंत्री नहीं बने तो गुर्जर एक बार फिर पटरी उखाड़ना शुरू कर सकते है. जेसीबी से सड़के खोद कर रास्ता झाम करेंगे और दिन में सहर में आग लगेगी.

वीडियो वायरल के बाद साम से ही राज्य के अजमेर करौली और अलवर बांसवाड़ा जैसे अन्य जगहों पर सचिन के समर्थकों ने उत्पात मचाते हुए सड़के झाम की तो कही रेल पटरी उखाड़ दी इस बीच सचिन पायलट ने टिविट कर अपने समर्थकों को सांति बनाये रखने की अपील की और किसी अफवाह में ध्यान नहीं देने को कहा कह रहा है ज्ञात राज्य की पहली वार्ता में कोंग्रेस के 70 विधायकों की राय के साथ रजामन्दी अशौक गहलोत मुख्यमंत्री बने रहे लेकिन पहली वार्ता के बाद भी अब तक संयम का विषय बना हुआ है राजस्थान का मुख्यमंत्री पद सूत्रों की माने तो आज साम तक मुख्यमंत्री के नाम पर मोहर लग जाएगी और सपथ ग्रहण समाहरोह भी आज ही होने के कयास लगाये जा रहे हे.

सीएम व पीएम के दौरे के पहले रेल कोच फैक्ट्री में लगी आग

आसद खान, रायबरेली: सीएम व पीएम के दौरे के पहले रेल कोच फैक्ट्री में लगी आग, फैक्ट्री परिसर के अंदर बिल्डिंग करते समय लगी आग, कोच नबंर 1083 के 3 टियर में लगी आग, रेल कोच में बड़ी लापरवाही जेआई सामने कल सीएम योगी को करना है पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण, 16 को रेल कोच में पीएम नरेंद्र मोदी का है कार्यक्रम।

मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर

धर्मेंद्र महापात्र, छत्तीसगढ़: मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर. हथियार समेत वर्दीधारी नक्सली का शव बरामद. बासागुड़ा थाना क्षेत्र का मामला. डीआरजी और सीआरपीएफ 168 बटालियन के जवानों ने चलाया था एक विशेष अभियान. मुठभेड़ स्थल से बरामद हुआ माइंस का जखीरा, शव और हथियार के साथ 25 नग आईडी भी बरामद.

ईशा-अम्बानी की प्री-वेडिंग रश्मों की हिस्सा बनने पॉप स्टार बेयोंसे पहुंची उदयपुर

एएनएम न्यूज़ डेस्क: उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा और आनंद पिरामल की शादी से पहले हो रही प्रे वेडिंग रश्मों में शामिल होने पॉपुलर पॉप स्टार बेयोंसे रविवार को उदयपुर पहुंची. 

उदयपुर एयरपोर्ट पर सफ़ेद ब्लेज़र और सनग्लास में साझ धझकार जब बेयोंसे को उनके फैंस ने खुसी का माहौल बन गया. बेयोंसे के अलावा इन रश्मों में बॉलीवुड कई हसीं सितारे भी शामिल होनेवाले है.

वही देश और विदेश से आये अतिथियो के लिए ‘स्वदेश बाजार’ का आयोजन किया गया जहा 108 पारम्परिक भारतीय शिल्प और कला को सराहा गया.

नीता अंबानी का दौरा ‘स्वदेशी बाजार’- 108 पारंपरिक भारतीय शिल्प का समर्थन

एएनएम न्यूज़ डेस्क: आनंद पिरामल के साथ ईशा अंबानी की शादी के प्री-विवाह कार्यों की प्रमुख हाइलाइट्स में से एक, नीता अंबानी, जो रिलायंस फाउंडेशन के अध्यक्ष भी हैं और ईशा अंबानी की माँ; आज 108 पारंपरिक भारतीय शिल्प और कला के एक क्यूरेटेड शोकेड ‘स्वदेश बाजार’ का दौरा किया। यह प्रदर्शन पूर्व-शादी के कार्यों में भाग लेने वाले राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मेहमानों के दर पे रखा गया।

स्वदेश बाजार पारंपरिक भारतीय कारीगरों की शिल्प कौशल को प्रोत्साहित करने के लिए रिलायंस फाउंडेशन द्वारा शुरू की गई एक अनोखी अवधारणा है। खासतौर पर बहुत से स्वदेशी शिल्पों के लिए जिन्हें संरक्षण और पुनरुद्धार की आवश्यकता है। रिलायंस फाउंडेशन वर्षों से इन कला और शिल्प का समर्थन कर रहा है और भविष्य में स्वदेश बाजार के लक्ष्यों को अपने समर्थन को व्यापक और गहरा बनाने का लक्ष्य रखता है।

कारीगर परिवारों, मास्टर कारीगरों और शिल्पकारों ने पश्चिम बंगाल से जामदानी जैसे बुनाई की अपनी स्वदेशी तकनीक और उत्पादों का प्रदर्शन किया। गुजरात से पटोला; कश्मीर से पश्मिना कानी; मध्य प्रदेश से कोटा बुनाई, चंदेरी बुनाई और महेश्वरी; कई अन्य लोगों के बीच असम के मेखला शामिल थे।

पश्चिम बंगाल से कंथा, हिमाचल प्रदेश से चंबा रुमाल; बिहार से सुजुकी कढ़ाई; पारसी समुदाय की गारा कढ़ाई; क्रोकेट; कश्मीर से काशीदाकरी; कुच की कढ़ाई; राजस्थान से पंजाब और गोटा पट्टी से फुलकरी कलाकारों के शौखिन जड़ो के जादुओं को दिखा रहा है। स्वदेश बाजार ने परंपरागत भारतीय शिल्प की सुंदरता पर प्रकाश डाला जिसे रिलायंस फाउंडेशन वर्षों से अनजाने में समर्थन कर रहा है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी परे बीमार; चिकित्सा के लिए भेजे जा रहे है नागपुर

मुरारी सिंह, मुंबई: केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को राहुरी शिरडी फुले कृषि विद्यापीठ मैं आयोजन एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे जहां उन्हें अचानक चक्कर आया और वह मंच पर गिर गए साथ में महाराष्ट्र के राज्यपाल मौजूद थे जिन्हें विशेष विमान से नागपुर भेजा जा रहा है.

अहमदनगर के जिला अधिकारी मौके वारदात पर पहुंच चुके हैं उन्हें हेलीकॉप्टर के जरिए शिरडी एयरपोर्ट ले जाया जाएगा जहां वह नागपुर के लिए रवाना होंगे इस दरमियान उनके 24 कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं चक्कर किन कारण बसाया या अभी साफ नहीं हो पाया है फिलहाल इलाज के लिए रवाना हो चुके हैं.

नया फरमान, सिगरेट और शर्बत पर वसूला जाएगा ‘पाप कर’

एएनएम न्यूज़ डेस्क: पाकिस्तान के लोगों को जल्द ही ‘पाप कर’ भी चुकाना होगा. यानी अब उन्हें सिगरेट और शर्बत पीने पर ‘Sin Tax’ देना पड़ेगा. यह जानकारी पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री अमीर महमूद कियानी ने दी.

उनका कहना है कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (Tehreek-i-Insaf) सरकार देश के सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product) के पांच पतिशत वाला स्वास्थ्य बजट बनाना चाहती है और इस काम के लिए उसे आमदनी बढ़ानी होगी.