बिल्डर की दबंगई से इलाके में दहशत


मुरारी सिंह, एएनएम न्यूज़, मुंबई: झोपडपट्टी पुनर्वसन योजना एसआरए के तहत मुंबई को शंघाई बनाने के लिए सरकार हरसंभव प्रयत्न कर रही है। लेकिन SRA के नाम से हुई धांधली और घोटाले की बात करें तो शायद मुंबई में इतना बड़ा घपला कभी नही हुआ होगा। वहीं मुंबई के गोरेगांव ईस्ट में साईंविसावा सहकारी गृहनिर्माण संस्था के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया है की बिल्डर म्हाणा के अधिकारियों के साथ मिलकर जबरजस्ती सर्वे करा रहा है। जबकि बरसात की वजह से कई लोग गांव गए हुए हैं तो कुछ लोग अपने काम से बाहर गए हैं। झोपडपट्टी पुनर्वसन योजना के तहत म्हाडा लोगों को घर के बदले घर देती है लेकिन बिल्डरों की धाधली और धोखाधड़ी के चलते कई लोग बेघर हो जाते है।

इस बिल्डर ने सोसायटी को लगभग 11 सालों तक बेवकूफ बनाया, बिल्डिंग का कोई निर्माण कार्य नहीं शुरू किया जिससे नाराज लोगों ने बिल्डर को चेंज करने के लिए म्हाडा में अपील की लेकिन बिल्डर लालफीताशाही अधिकारियों के साथ मिलकर जबरजस्ती सर्वे कर लोगों को अपात्र कर मोटी रकम कमाने में जुटा है। जबकि सोसायटी के अध्यक्ष उपाध्यक्ष सेक्रेटरी और सदस्यों ने इसका विरोध किया लेकिन अधिकारी उसके बावजूद भी लोगों के घरों पर नंबर डालते हुए निकल गए।


NameE-mailWebsiteComment

Leave a Reply