एएमयू में छात्राओं को वॉशरूम प्रयोग और पानी पीने पर लगाई रोक


अर्जुन देव वार्ष्णेय, एएनएम न्यूज, अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से बड़ी खबर छात्राओं पर वॉशरूम के प्रयोग, पानी पीने से लगाई रोक, छात्रों को नमाज पढ़ने जाने से रोका, पीएचडी में एडमिशन के लिए छात्र-छात्राएं रजिस्ट्रार ऑफिस पर दे रहे हैं धरना, छात्र-छात्राओं में आक्रोश, वॉशरूम प्रयोग और पीने का पानी पीने से रोकने पर महिला आयोग व मानवाधिकार आयोग को लिखा पत्र।

जहां देश के प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौंचालयों का निर्माण करा रहे हैं। खासकर के महिलाओं को कहीं भी कोई दिक्कत का सामना न करना पड़े उनके लिए पिंक लेडी टॉयलेट भी बनाये गए हैं, लेकिन एएमयू में छात्राओं को वॉशरूम जाने से रोक दिया गया दरअसल एएमयू के रजिस्ट्रार गेट पर धरना दे रहे करीब दो दर्जन छात्र-छात्राओं ने एएमयू इंतजामियां पर गंभीर आरोप लगाया है कि वह गत दिनों से पीएचडी में एडमिशन के नाम पर चल रही धांधली को लेकर धरना दे रहे हैं, क्योंकि उनके ऐडमिशन पीएचडी में किए नहीं जा रहे हैं, शांतिपूर्ण ढंग से चल रहे धरने के दौरान हर किसी के मौलिक अधिकार होते हैं कि उन्हें वॉशरूम, पीने का पानी और धार्मिक गतिविधि नमाज या पूजन करने से कहीं भी कोई रोक टोक नहीं जाती है, धरना दे रही छात्राओं और छात्रों का कहना है कि वह जब रजिस्ट्रार ऑफिस की बिल्डिंग में बने सार्वजनिक वॉशरूम का प्रयोग करने जा रही थी तो उनको एएमयू सुरक्षाकर्मियों द्वारा रोक लिया गया, इतना ही नहीं पानी की लगी टंकी तक पानी पीने जाने से रोक दिया गया, वहीं छात्रों को बिल्डिंग में मौजूद मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोका गया है, इस पर जब सुरक्षाकर्मियों से पूछा गया तो उन्होंने रजिस्ट्रार का आदेश बताते हुए रोकने की बात कही है, और रजिस्ट्रार ऑफिस का हर वक्त खुला रहने वाला गेट भी बंद कर लिया गया है। यह सब होने के बाद धरने पर मौजूद छात्र-छात्राओं में भारी आक्रोश पनप गया है, जिसको लेकर उन्होंने महिला आयोग व मानवाधिकार आयोग को पत्र लिखकर इस पूरे मामले से अवगत करा दिया है।


NameE-mailWebsiteComment

Leave a Reply