(VIDEO) मोर्चरी में भी मुर्दे को रखने के लगते है दाम


लोकेश व्यास, जोधपुर: कहा तो यह जाता है की संसार मोह माया है। और मृत्यु के बाद सबकुछ यही छूट जाता। लेकिन यह बात जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल पर लागु नहीं होती। विशेष कर एमडीएम अस्पताल की मोर्चरी पर तो बिलकुल ही नहीं। बधाई के नाम पर तो बक्शीश दी जाती रही है लेकिन एमडीएम मोर्चरी में उलटी गंगा बहते हुए अब मुर्दे के भी दाम वसूले जा रहे है।

शहर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल के पोस्टमार्टम करने वाले कर्मचारियो की लगता हे जैसे मानवता दफ़न हो गई। जो मरे व्यक्ति को इधर से उधर करने और शव परिक्षण के नाम पर दाम मांगे जाते है। और नहीं देने पर बॉडी के साथ और उनके परिजनों के साथ खिलवाड़ किया जाता है। गुरूवार को एक ऐसा ही मामला सामने आया। जहा बाड़मेर जिले के सिणधरी निवासी दमाराम के एक रिश्तेदार की मौत के बाद उसकी शव को मोर्चरी में रखे जाने के समय उजागर हुआ। जहा मृतक के रिश्तेदारों से शव को रात में मोर्चरी में रखने के लिए पैसो की मांग की गई। पोस्टमार्टम में रखने से पहले और शव को उठाने के लिए पैसो की मांग की जाती है पीड़ितों की मज़बूरी यह है की पहले से ही उन पर दुखो का पहाड़ टुटा हुआ है।


NameE-mailWebsiteComment

Leave a Reply