प्रवासियों और शरणार्थियों को निशाना बनाया गया था: पीएम अर्डर्न


हमारे संवाददाता, क्राइस्टचर्च:क्राइस्टचर्च में दो धार्मिक स्थलों पर नृशंस आतंकवादी हमले में मृतकों में से अधिकांश श्रीलंका और बांग्लादेश जैसे दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के प्रवासी और शरणार्थी हैं। पुलिस आयुक्त माइक बुश ने कहा कि अल नूर में 30 लोगों की मौत हो गई है जबकि लिनवुड इस्लामिक सेंटर में 10 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में ज्यादातर श्रीलंका और बांग्लादेश के प्रवासी हैं। ये प्रवासी बेहतर अवसरों के लिए न्यूजीलैंड पहुंचे थे, धमाके में जीवित बचे व्यक्ति ने नाम न प्रकसित के शर्त पर दावा किया है की उसका वीजा बहुत पहले ही समाप्त हो चुका है फिर भी वह एक स्थानीय स्थान पर नौकरी कर रहा है। पीएम जैकिंडा अर्डर्न ने हमलावर की प्रेरणा की बात करते हुए कहा कि पीड़ितों में शरणार्थी और प्रवासी शामिल हो सकते हैं। “वह हम में से एक हैं,” उन्होंने कहा, अपराधी कहने से पहले “न्यूजीलैंड में कोई जगह नहीं है। न्यूजीलैंड पुलिस द्वारा प्रारंभिक जांच से संकेत मिलता है कि हमलावरों ने प्रवासियों और शरणार्थियों को निशाना बनाया था।


NameE-mailWebsiteComment

Leave a Reply