बैडमिंटन प्लेयर ज्वाला गुट्टा ने भी शेयर किया मी टू मोमेंट, कहा- ‘चीफ’ की वजह से मैंने खेलना छोड़ दिया


अजीत यादव, दिल्ली: भारत की बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने भी अपना ‘मी टू मोमेंट’ शेयर किया है. मीडिया में एक बड़ा खुलासा करते हुए यह कहकर सबको चौंका दिया कि वे भी उत्पीड़न का शिकार हुई हैं.

बॉलीवुड और मीडिया में जारी इस मुहिम में ज्वाला गुट्टा ने एक खिलाड़ी के रूप में अपना एक्सपीरियंस शेयर किया, हालांकि ज्वाला ने साफ किया कि उन्हें कभी सेक्सुअल हरासमेंट का शिकार नहीं होना पड़ा लेकिन उनका जब-तब मानसिक शोषण होता रहा है, जिसकी वजह से उनका करियर बर्बाद हुआ.

ज्वाला ने अपने आधिकारिक ट्‍विटर अकाउंट के जरिए कहा कि एक अधिकारी ने मुझे मानसिक रूप से इतना अधिक परेशान किया कि मैंने खेलना तक छोड़ दिया था.

मेरा शारीरिक उत्पीड़न नहीं हुआ, लेकिन मानसिक उत्पीड़न इतना बढ़ गया कि मैं परेशान हो गई और मैंने खेल से तौबा कर ली थी.

ज्वाला ने ट्विटर पर बताया- ‘साल 2006 में ये व्यक्ति चीफ बन गया था, मुझे राष्ट्रीय चैम्पियन होने के बावजूद राष्ट्रीय टीम से बाहर कर दिया था.

पिछली बार जब मैं रियो से वापस आई मुझे फिर राष्ट्रीय टीम से बाहर कर दिया गया जिसके बाद मैंने खेलना छोड़ दिया.

उन्होंने कहा, ‘2006 से…2016 तक…बार बार मुझे टीम से बाहर किया जाता रहा… मेरे प्रदर्शन के बावजूद… 2009 में मैंने टीम में वापसी की जब मैं दुनिया की नौवें नंबर की खिलाड़ी थी.


NameE-mailWebsiteComment

Leave a Reply