ईवीएम के मतों से पहले नहीं गिनी जायेंगी वीवीपैट की पर्चियां: चुनाव आयोग

एएनएम न्यूज़, डेस्क: चुनाव आयोग ने ईवीएम के मतों की गिनती से पहले वीवीपैट की पर्चियों को गिनने की विपक्षी दलों की मांग को खारिज कर दिया और कहा कि मतगणना, पूर्व निर्धारित प्रक्रिया के तहत ही होगी, कोई बदलाव नहीं होगा। आप को बता दे चंद्रबाबू नायडू की अगुवाई में कांग्रेस सहित 22 दलों के नेताओं ने मंगलवार को चुनाव आयोग से वीवीपैट की पर्चियों की गिनती, ईवीएम के मतों की गिनती से पहले करने और ईवीएम तथा वीवीपैट के मतों की गिनती में अंतर पाये जाने पर पूरे विधानसभा क्षेत्र में ईवीएम मतों का वीवीपैट की पर्चियों से मिलान करने की मांग की थी।

आयोग ने ईवीएम के मतों से वीवीपैट की पर्चियों के मिलान में कोई अंतर पाये जाने पर संबद्ध विधानसभा क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों की वीवीपैट पर्चियों का ईवीएम के मतों से मिलान करने की मांग को भी खारिज कर दिया। आयोग की दलील है कि ऐसा करने से मतगणना बहुत अधिक विलंबित होगी। इसके मद्देनजर आयोग ने सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार निर्धारित प्रक्रिया के तहत ही मतगणना कराये जाने का फैसला किया है।

भाजपा एक डूबती जहाज है: शशि थरूर

एएनएम न्यूज़, डेस्क: कांग्रेस नेता शशि थरूर ने एग्जिट पोल के नतीजों आने के बाद बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए को डूबते जहाज से जोड़ दिया और कहा कि वह इन चुनाव परिणामों को गंभीरता से नहीं लेते हैं।

परिणामों से एक दिन पहले, थरूर ने दावा किया कि सभी एग्जिट पोल सत्ता पक्ष के पक्षपाती हैं। उन्होंने भरोसा दिलाया कि बीजेपी उतनी भविष्यवाणी नहीं कर सकती जितनी कि अनुमान लगाया जा रहा है।

अधिकतम मतदान के साथ चुनाव आयोग ने रच डाला इतिहास

एएनएम न्यूज़, डेस्क: चुनाव आयोग ने एक ग्राफ दिखाते हुए कहा कि भारतीय मतदाताओं ने 2019 के लोकसभा चुनावों में सबसे अधिक मतदाताओं के साथ “इतिहास रचा” है।

शीर्ष नेताओं ने सोशल मीडिया पर अपना अधिकार जताने के लिए योग्य मतदाताओं से मतदान करने का आग्रह किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मशहूर हस्तियों का उल्लेख किया था और उन्हें प्रोत्साहित किया था कि वे दूसरों को वोट डालने के लिए प्रेरित करें।

राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को अगले 24 घंटों सजग और सतर्क रहने को कहा

एएनएम न्यूज़, डेस्क: लोकसभा चुनावों में ईवीएम-वीवीपीएटी की 100% रैंडम फिजिकल काउंटिंग की विपक्ष की सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग की अस्वीकृति के साथ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सजग और सतर्क रहने के लिए कहा है। बुधवार को ट्विटर पर, राहुल गांधी ने लिखा, “अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण हैं। सजग और सतर्क रहें। डरो मत, आप सच्चाई के लिए लड़ रहे हैं।”

एक्जिट पोल के नतीजों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को विश्वास न करने के लिए कहते हुए राहुल गांधी ने लिखा, “फर्जी एग्जिट पोल के प्रचार से निराश न हों। कांग्रेस और खुद पर भरोसा रखें। आपकी मेहनत बेकार नहीं जाएगी।” एग्जिट पोल ने 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के लिए आरामदायक जीत की भविष्यवाणी की है।

IED ब्लास्ट में 8 सैनिक घायल

राजू सिंह, एएनएम न्यूज़, जम्मू: पुंछ जिले के मेंढर इलाके में नियंत्रण रेखा के पास एक आईईडी विस्फोट में 8 सैनिक घायल हो गए हैं। एक के हताहत होने की आशंका है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की तलाश की जा रही है।

झारखंड के देवघर में इवीएम का खाली बक्सा लदा ट्रक पकड़ाया, मचा हंगामा

एएनएम न्यूज़, डेस्क : देवघर में लोकसभा आम चुनाव-2019 के मतदान संपन्न होने के तीसरे दिन मंगलवार को इवीएम का दर्जनों खाली बक्सा लदा एक ट्रक (संख्या जेएच 15एल 3692) बैजनाथपुर चौक के समीप स्थानीय लोगों की मदद से पकड़ा गया। घटना दिन के 10:55 बजे की है। ट्रक पकड़े जाने की खबर मिलने के बाद घटना स्थल पर महागठबंधन के विभिन्न पार्टियों के शीर्ष नेता पहुंचे।

इन नेताओं में राजद के वरीय नेता सह सूबे के पूर्व मंत्री सुरेश पासवान, झामुमो के वरीय नेता सह झारखंड विधानसभा के पूर्व स्पीकर शशांक शेखर भोक्ता, नगर अध्यक्ष सुरेश साह, कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष मुन्नम संजय, भूतनाथ यादव, दिनेशानंद झा, विनोद वर्मा आदि के नाम हैं। इन नेताओं ने पूरे मामले की जांच की मांग की है।

लेकिन, विपक्षी नेताओं ने एकजुटता का परिचय देते हुए ऑन द स्टॉप खाली बक्से की जांच की मांग करने लगे। विधि-व्यवस्था को बिगड़ते देख सिविल एसडीओ विशाल सागर, जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी प्रवीण प्रकाश व एसडीपीओ विकासचंद्र श्रीवास्तव मौके पर दिन के करीब 12:30 बजे पहुंचे।

नतीजों से पहले जीत के जश्न की तैयारी

एएनएम न्यूज़, डेस्क : एग्जिट पोल के नतीजों के बाद भाजपा और मोदी समर्थकों में उत्साह की ज़बरदस्त लहर देखी जा रही है। परिणाम ये है कि जीत का जश्न मनाने की तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं।

हर कोई मोदी रंग में डूबने को बेताब है। यहाँ तक कि ऊना में हलवाई भी मोदी के चेहरे का मुखौटा लगाकर मिठाइयाँ बना रहे हैं। मोदी फैन मिठाई विक्रेता शिवेन कुमार मोदी की जीत के लिए खासतौर पर देसी घी के लड्डू तैयार करवा रहा हैं। भाजपा ने भी इसी मिठाई विक्रेता को मिठाई का ऑर्डर दिया है।
परिणाम आना बाकी है, लेकिन यदि एग्जिट पोल की मानें तो बीजेपी की नज़र से अब ये सिर्फ औपचारिकता है। बीजेपी या यूं कहें कि मोदी समर्थक उत्साह से लबरेज़ दिखाई दे रहे हैं, जिसका असर ये है कि उन्होंने असल नतीजों के बाद जश्न की तैयारियाँ भी शुरू कर दी हैं।

बंगाल में लेफ्ट फ्रंट का क्यों हो रहा है सफाया?

एएनएम न्यूज़, डेस्क : अगर एग्ज़िट पोल के नतीजों पर यकीन किया जाए तो लोकसभा चुनाव के इतिहास में इस बार लेफ्ट फ्रंट का सबसे खराब प्रदर्शन रह सकता है। पिछले चार दशक से पश्चिम बंगाल लेफ्ट का गढ़ रहा है। लेकिन ऐसा लग रहा है कि इस बार इनका यहां से पूरी तरह सफाया हो जाएगा। नेतृत्व की कमी, काडर का दूसरे खेमे में जाना और फिर वोट बैंक का खिसकना।

बंगाल में लेफ्ट फ्रंट का 34 साल (1977–2011) तक राज रहा। लेकिन बीजेपी के बढ़ते कद के चलते इन्हें अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। सीपीआई (एम) के ज्यादातर कैडर या तो टीएमसी में शामिल हो गए हैं या फिर बीजेपी में। पश्चिम बंगाल में सीपीआई (एम) के करीब 2।65 लाख सदस्य थे, जिसमें साल 2017 से भारी कमी आई है। हालत ये हो गई है कि इस बार 25 फीसदी बूथ पर पार्टी को पोलिंग एजेंट भी नहीं मिला।

सीपीआई (एम) के एक और नेता सुजान चक्रबर्ती का कहना है कि उनकी पार्टी को बंगाल में कोई खत्म नहीं कर सकता। उन्होंने कहा, ‘ऐसा नहीं हो सकता क्योंकि हमने पिछले 10 साल में कोई बड़ी गलती नहीं की है। ये ममता की वजह से हो रहा है, जबकि बीजेपी धर्म के नाम पर चुनाव लड़ रही है।”

कुलगाम में सेना के चलाये अभियान में एक आतंकी ढेर

यवर शफी, एएनएम न्यूज़, श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के गोपालपोरा इलाके में बुधवार को सुरक्षाबलों के साथ जारी मुठभेड़ में एक आतंकवादी के मारे जाने की खबर है। सेना की 34RR और SOG की संयुक्त टीम ने गोपालपोरा गांव में एक CASO अभियान चलाया।
जैसे ही बलों की संयुक्त टीम ने तलाशी तेज की और संदिग्ध स्थान की ओर कुछ चेतावनी फायरिंग की, अंदर छिपे आतंकवादियों ने गोलियां चला दीं।

उस क्षेत्र में कुछ आतंकवादियों की उपस्थिति के बारे में विशिष्ट जानकारी के बाद रखा गया, यह अभियान चलाया गया जिसके बाद मुठभेड़ हुई।
गोलाबारी के शुरुआती चरण में, एक आतंकवादी मारा गया है और ऑपरेशन चल रहा है।

जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल अमरनाथ यात्रा के लिए की उच्च स्तरीय बैठक

यवर शफी, एएनएम न्यूज़, श्रीनगर: जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक, श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष, ने श्री अमरनाथजी यात्रा के संबंध में महत्वपूर्ण सुरक्षा संबंधी मामलों की समीक्षा करने के लिए श्रीनगर के राजभवन में एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की, जो 1 जुलाई 2019 से शुरू होने वाली है, दोनों से बालटाल और पहलगाम मार्ग से।

बैठक में सलाहकार (के) राज्यपाल, मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, जीओसी XV कोर, जीओसी विक्टर फोर्स, श्राइन बोर्ड के सीईओ, गृह सचिव; केंद्रीय और राज्य खुफिया एजेंसियों के प्रमुख; और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों, जम्मू और कश्मीर पुलिस और वायु सेना के सबसे वरिष्ठ अधिकारी ने भाग लिया। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि राज्यपाल ने आगामी यात्रा के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने के लिए सभी संबंधित एजेंसियों को कड़ी निगरानी और प्रभावी समन्वय बनाए रखने की आवश्यकता पर बल दिया।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों द्वारा प्रतिकूल बाहरी एजेंसियों के परिकल्पित उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए राज्य में सुरक्षा और उभरते हुए सुरक्षा वातावरण के बारे में विस्तृत प्रस्तुतियाँ दी गई हैं। बैठक ने यात्रा क्षेत्र में उत्पन्न होने वाली किसी भी अप्रत्याशित स्थिति को पूरा करने के लिए तैयारियों के संबंध में व्यापक विचार-विमर्श किया; यात्रिओ के सुरक्षा के लिए आरओपी की तैनाती के साथ अनेक महत्पूर्ण विषयो पर मंथन किया गया।

बैठक में दोनों यात्रा मार्गों पर पहचान वाले स्थानों पर विभिन्न सुरक्षा बलों की बचाव टीमों के साथ राज्य पुलिस के माउंटेन रेस्क्यू टीम्स (एमआरटी) की तैनाती पर भी चर्चा हुई; पूर्व निर्धारित बिंदुओं पर अच्छी तरह से सुसज्जित अग्निशमन टीमों की तैनाती; उपयुक्त स्थानों पर एक्स-रे बैगेज स्कैनिंग इकाइयों की स्थापना; नीलग्रथ, पंजतरणी और पहलगाम हेलीपैड पर अभिगम नियंत्रण व्यवस्था; बार कोड गणना अंक; यात्रा मार्ग आदि के साथ दूरसंचार सुविधाएं के संबंध में विचार-विमर्श किया गया।