एक्सक्लूसिव: बारिश की कमी से कहीं ख़ुशी तो कहीं गम, बालू माफिया काट रहे है चांदी

एएनएम न्यूज़, आसनसोल ब्यूरो: एक तरफ जहां बारीश की कमी से किसान रो रहा है वही बालू माफिया मानो किसान का मज़ाक बनते हुए चांदी काट रहा है। आसनसोल सहित पुरे जमुड़िया रानीगंज में रेत माफियायों ने अपना साम्राज्य कायम कर लिया है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि प्रशासन की मदद से जमुड़िया के अजय नदी के किनारे बसे बीरकुलटी चुरुलीया, दरबारडांगा, सिद्धपुर भुरी नदी के किनारे कहीं बेलचा से तो कहीं बड़ी मशीन के सहारे धड़ल्ले से बालु का अवैध उत्खनन चल रहा है। शाम होते ही यह गोरखधंधा शुरू हो जाता है।

एएनएम न्यूज़ से बात करते हुए नाम ना बताने की शर्त पर प्रशासन से जुड़ा एक व्यक्ति ने बताया कि बीरकुल्टी गांव में अजय नदी के किनारे विकल्प नामक एक संस्था को सरकार द्वारा बालु निकलने के लिए अनुमति दिया गया था। नियमों के अनुसार बरसात में रेत नही निकाला जा सकता पर यह संस्था सभी नियमों को ताक पर रखते हुए नदी के बीच से हाईवा से रेत निकाल कर मोटी कमाई कर रहे है। नदी के बीचों बीच बड़े बड़े बोल्डर डालकर नदी की स्वाभाविक गति तक को बदल दिया गया है।

दुसरी तरफ नदी में बड़े बड़े गड्ढे हो जाने से कुछ साल पहल तीन युवकों की डुबकर मौत हो गयी थी। यह संस्था स्थानीय लोगों को यह बालु बीना रसीद के 400 से 600 रुपये में बेच रहे हैं वही अवैध बालु से लदे वाहनों की तेज़ गति के कारण हादसे हो रहे हैं सड़क पर पड़ी बालु के चलते छोटे वाहन फिसल रहे हैं। इस विषय पर जमुड़िया के भुमि अधिकारी गुलाम मिर्ज़ा ने बताया कि हाल ही में अभियान चलाकर बालु से लगे 37 डंपरों को जब्त कीया गया था। बुधवार को भी जमुड़िया के बिडिओ अजय कुमार झुरि के नेतृत्व मे अभिनय चलाकर दो डंपरों को ज़ब्त कर जमुड़िया थाने को सौंप दीया गया। उधर पंचायत समिति के अध्यक्ष मुकुल बैर्नजी ने कहा पुरे मामले पर प्रशासन और दल की पैनी नजर है और विकल ग्रुप के खिलाफ सभी आरोपों की जांच की जायेगी।

रानिगंज के दामोदर नदी के किनारे स्थित डालमिया तिराट हाड़भांगा इलाको पर भी यह अवैध कारोबार फल फुल रहा। यहां भी प्रशासन की लापरवाही के आरोप लग रहे हैं। रानीगंज के भुमि अधिकारी सुमन सरकार ने कहा कि दामोदर नदी के घाटों का नियंत्रण बांकुड़ा प्रशासन पर है यहां वह लाचार है।

भीषण बाढ़ में मां ने ही अपने बच्चे को दिया था पानी में धक्का, तस्वीरें हुई वायरल

एएनएम न्यूज़, डेस्क: बाढ़ से पीड़ितों राज्य और आम लोगो की समस्या तो सबके सामने है लेकिन इस दुविधापूर्ण घड़ी में सोशल मीडिया पर वायरल हुए तीन महीने के एक मृत बच्चे की तस्वीर मामले में नया खुलासा हुआ है। जांच पड़ताल और कई छानबीन के बाद मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष ने कहा कि मृत बच्चे की मां ने ही अपने बच्चों को पानी में धक्का दे दिया था। इसके बाद वह खुद पानी में कूद गई थी। डीएम ने कहा कि महिला ने अपराध किया है इसलिए मुआवजा देने का कोई मामला नहीं है। वहीं इस मामले में डीएसपी पूर्वी ने गांव जाकर लोगों से की पूछताछ की, जिसके बाद बच्चे की मां रीना देवी को हिरासत में ले लिया है। बच्चे की मां रीना देवी ने बताया कि वह बागमती नदी के तट पर कपड़ा धोने और नहाने गई थी। रीना देवी के साथ उनके 4 बच्चे भी गए थे, जो नदी के किनारे खेल रहे थे। तभी अचानक उनका 1 बच्चा पानी में फिसल गया।
वहीं रीना देवी के पति शत्रुघ्न राम से पूछताछ की जा रही है। हालांकि पति शत्रुघ्न राम ने बताया कि रीना की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। कुछ दिनों पहले उसे दिमागी बुखार हुआ था। जिसका इलाज चल रहा है। वहीं गांववालों का कहना है कि पति पत्नी के बीच झगड़े की वजह से बच्चों की जान गई है। बहरहाल महिला, उसके पति और गांव वालों के बयान में विरोधाभास के बाद डीएम ने इसकी सच्चाई सबके सामने ला दी है।

गोरखपुर में भीषण बाढ़ की आशंका में शुरू हुआ ‘मेगा मॉक ड्रिल’

एनडीआरएफ की टीम और सेना सहित कई विभाग भी हुए शामिल

एएनएम न्यूज़, डेस्क: गोरखपुर में जबरदस्त बाढ़ की आशंका के देखते हुए गुरुवार को मेगा मॉक ड्रिल की शुरुआत हुई। इसमें एनडीआरएफ की टीम और सेना सहित कई विभाग शामिल हुए। राजघाट क्षेत्र में यह अभ्‍यास किया गया। राप्‍ती नदी के ऊपर एअरफोर्स के हेलीकाप्‍टर लोगो को राहत सामग्री पहुंचाते हुए देखे गए। इस दौरान बाढ़ में फंसे पीडि़तों को सुरक्षित बाहर निकालने, उन्‍हें तत्‍काल चिकित्‍सकीय सहायता पहुंचाने जैसे अभियानों का अभ्‍यास भी कराया गया। एनडीआरएफ ने कई लोक मित्र भी तैयार किए हैं जिन्‍हें बाढ़ जैसी आपदा के वक्‍त खुद को बचाते हुए दूसरों को मदद पहुंचाने का अभ्‍यास कराया गया।

महज 15 दिनों में हिमा दास ने जीता चौथा गोल्ड मेडल, पूरे देश को हिमा पर गर्व

एएनएम न्यूज़, डेस्क: भारत की स्टार एथलीट हिमा दास की शानदार फॉर्म जारी है। उन्होंने पिछले 15 दिनों में अपना चौथा गोल्ड मेडल जीता है। महिलाओं की 200 मीटर रेस में हिमा ने चेक रिपब्लिक में चल रहे टबोर एथलेटिक्स मीट में बुधवार (17 जुलाई) को एक और गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया। हिमा ने महज 23.25 सेकेंड में दौड़ पूरी कर ली। 19 साल की इस एथलीट को पूरा देश सलाम कर रहा है।
पहला गोल्ड: 2 जुलाई को हिमा ने पोजनान एथलेटिक्स ग्रांड प्रिक्स में 200 मीटर रेस में हिस्सा लिया था। उन्होंने 23.65 सेकंड में उस रेस पूरा कर गोल्ड जीता था।
दूसरा गोल्ड: हिमा ने 7 जुलाई को पोलैंड में कुटनो एथलेटिक्स मीट में 200 मीटर रेस को 23.97 सेकंड में पूरा कर गोल्ड मेडल जीता था।
तीसरा गोल्ड: हिमा ने 13 जुलाई को चेक रिपब्लिक में हुई क्लांदो मेमोरियल एथलेटिक्स में महिलाओं की 200 मीटर रेस को 23.43 सेकेंड में पूरा किया।
लोगों ने हिमा को किया सलाम। आज पुरे देश को हिमा दास पर गर्व है।

प्रधानमंत्री मोदी से एक माँ ने लगायी गुहार, बेटो को बिदेश नहीं भेजना चाहती, वजह है ये

एएनएम न्यूज़, डेस्क: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत के पूरनपुर में रहने वाली एक महिला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है। विदेश से छुट्टी पर घर लौटे दो युवकों ने वापस जाने से मना कर दिया। उनका आरोप है कि वहां क्षमता से अधिक काम कराया जाता है और जबरदस्ती नशा भी कराया जाता है। पुलिस की दखल के बाद युवकों ने पंद्रह दिन की मोहलत मांगी थी। आरोप है कि अब समय पूरा होने के बाद पुलिस उनपर वापस जाने का दबाव बना रही है। एक युवक की मां ने प्रधानमंत्री से गुहार लगाते हुए बेटे को वापस न भेजे जाने की मांग की है। लगभग डेढ़ साल पहले पूरनपुर के तीन युवक दिल्ली की एक कंपनी में काम करने गए थे। कुछ दिन काम करने के बाद कंपनी ने उन्हें पोलैंड भेजने की बात कही। युवकों की सहमति पर 18 महीने का पोलैंड की एक कंपनी में काम करने पर समझौता हुआ था। तीनों युवकों ने वहां तेरह महीने काम किया। ईद की छुट्टी पर 15 दिनों के लिए तीनों पूरनपुर अपने घर आ गए। समय पूरा होने के बाद उन्हें पोलैंड लौटना था। लेकिन युवक नहीं गए। इसपर दिल्ली के कंपनी के अधिकारियों ने पुलिस से शिकायत की थी। इस पर दोनों युवकों को पंद्रह दिन का और समय दिया गया था। इजहार की मां ने विदेश में प्रताड़ित किए जाने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय में शिकायत की है।

हरीश साल्वे मात्र 1 रूपये फीस लेकर जाधव को बचाया, 20 करोड़ खर्च कर भी पाक हारा

एएनएम न्यूज़, डेस्क: भारत के पूर्व सॉलिसिटर और देश के जाने माने वकील हरीश साल्वे ने पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव का केस अंतरार्ष्ट्रीय अदालत में लड़ने के लिए बतौर फीस महज एक रुपया लिया। वहीं, पाकिस्तान ने जाधव को जासूस साबित करने के लिए अपने वकील पर 20 करोड़ रुपये से अधिक खर्च कर दिए। तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 15 मई 2017 को एक ट्वीट में यह जानकारी दी थी कि हरीश साल्वे ने जाधव का केस लड़ने के लिए एक रुपये लिया है। वहीं, पाकिस्तान सरकार ने पिछले साल देश की संसद नेशनल असेंबली में बजट दस्तावेज पेश किया जिसमें कहा गया कि द हेग में अंतरार्ष्ट्रीय अदालत में जाधव का केस लड़ने वाले वकील खावर कुरैशी को 20 करोड़ रुपये दिए गए हैं। कैब्रिज यूनिवर्सिटी से कानून में स्नातक कुरैशी आईसीजे में केस लड़ने वाले सबसे कम उम्र के वकील भी हैं। खस्ता आर्थिक हालात का सामना कर रहे पाकिस्तान के जाधव केस पर इतनी बड़ी राशि खर्च करने पर सरकार को भारी आलोचना का सामना करना पड़ा। भारत की कूटनीतिक व कानूनी जीत के हीरो रहे जून 1955 में जन्मे देश के जाने-माने वकील हरीश साल्वे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उनकी एक दिन की फीस करीब 30 लाख रुपये है लेकिन जाधव का केस उन्होंने महज एक रुपये में लड़ा। वह 1999 से 2002 तक देश के सॉलिसिटर जनरल रहे। अप्रैल 2012 में उनका निधन हो गया था।

मुंबई-गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस का पिछले डिब्बा पटरी से फिसला, जान माल का कोई नुक्सान नहीं

एएनएम न्यूज़, डेस्क: महाराष्ट्र में मुंबई-गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस का एक डिब्बा गुरुवार सुबह पश्चिमी घाट में पटरी से उतर गया। इस वजह से रेल यातायात प्रभावित हुआ है। अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है। मध्य रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि हादसा तड़के करीब तीन बजकर 50 मिनट पर कसारा और इगतपुरी के बीच हुआ, जब ट्रेन का पीछे से दूसरा डिब्बा पटरी से उतर गया। ट्रेन मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से चली थी और उसे उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जाना था। उन्होंने आगे कहा कि दुर्घटना के कारण ट्रेन पहाड़ी पर बने एक पुल पर रूकी हुई जिसके नीचे गहरी खाई थी इससे वजह से यात्री तनाव में आ गए। हालांकि यात्रियों को बाद में वहां से निकाल लिया गया। बाद में उन्हें बचाव ट्रेन में भेजा गया। यह सभी यात्री सुबह नौ बजकर 43 मिनट पर इगतपुरी पहुंचे। उन्होंने बताया कि इगतपुरी से यात्रियों को उनके गन्तव्य तक पहुंचाने के लिए विशेष ट्रेन का इंतजाम किया गया है। मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ए के गुप्ता भी मुंबई में नियंत्रण कक्ष से स्थिति की निगरानी कर रहे थे। रेलवे अधिकारी ने कहा कि प्रभावित लाइन पर ट्रेन की आवाजाही शुरू करने के प्रयास जारी है।

आप सरकार की तरफ से आयी बड़ी खुशखबरी, केजरीवाल बोले- दिल्ली की सभी कच्ची कॉलोनियों की होगी जल्द रजिस्ट्री

एएनएम न्यूज़, डेस्क: दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने राजधानी की सभी कच्ची कॉलोनियों को जल्द ही मालिकाना हक देने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी घोषणा करते हुए कहा कि सभी कच्ची कॉलोनियों को मालिकाना हक मिलने के बाद इनमें रजिस्ट्री भी जल्द ओपन होगी। इस संबंध में केंद्र सरकार ने बुधवार को मंजूरी पर हामी भरी है। हालांकि, अभी भी कुछ सवाल हैं जिन्हें जल्द ही दूर कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार 6000 करोड़ से विकास कर रही है। जल्द ही रजिस्ट्री शुरू होगी तो रजिस्ट्री करने वाले विभाग को तैयारी करने के लिए बोल दिया गया है। दिल्ली में 1797 कच्ची कॉलोनियां हैं।

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का भतीजा रिजवान कासकर मुंबई पुलिस की गिरफ्त में

मुरारी सिंह, एएनएम न्यूज, मुम्बई: अंडरवर्ल्ड का इकलौता हफ्ता खोर पुलिस की गिरफ्त में। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का भतीजा रिजवान कासकर मुंबई पुलिस की गिरफ्त में आया है। आपको बता दें कि रिजवान के पिता इकबाल कासकर को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने गिरफ्तार किया था। वहीं अब उसके बेटे को भी हफ्ता खोरी के मामले में मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इससे पहले ही अंडरवर्ल्ड डॉन देश छोड़कर फरार हो चुका है। वही उसके भाई और भतीजे मुंबई में अंडरवर्ल्ड के कामकाज को चलाया करते थे। मुंबई पुलिस ने पहले बाप को धर दबोचा, अब बेटे को सलाखों के पीछे ढकेल दिया है। क्या अब मुंबई में अंडरवर्ल्ड पूरी तरह से खत्म होगा, क्या हफ्ता खोरी या फिर अंडरवर्ल्ड के नाम पर वसूली बंद होगी यह देखना दिलचस्प होगा।

अक्षय कुमार ने फिर बढ़ाया मदद का हाथ, असम में बाढ़ पीड़ितों को दिए 2 करोड़ रूपये

सीएम रिलीज फंड में जमा कराए एक करोड़, तो काजीरंगा पार्क रेस्क्यू के लिए दिए दान

एएनएम न्यूज़, डेस्क: देश के कई राज्य इन दिनों बाढ़ का सामना कर रहे हैं। असम राज्य भी बाढ़ से काफी प्रभावित हुआ है। यहां 52 लाख लोगों पर बाढ़ का असर पड़ा और करीब 120 लोगों के मारे जाने की भी खबर है। ऐसे में असम की मदद के लिए खिलाड़ी कुमार यानी अक्षय कुमार सामने आए हैं। उन्होंने असम के लिए दो करोड़ रुपये दान दिए हैं। एक करोड़ उन्होंने सीएम रिलीज फंड में जमा कराए तो एक करोड़ काजीरंगा पार्क रेस्क्यू के लिए दिए हैं। ऐसा नहीं है कि अक्षय ने पहली बार ऐसी दरियादिली दिखाई है। जब भी किसी तरह की राष्ट्रीय आपदा आती हैं, अक्षय मदद के लिए हमेशा हाथ आगे बढ़ाते हैं। उन्होंने पुलवामा अटैक में मारे गए परिवारों के सदस्यों और केरल बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए दान किया था। अक्षय ने ट्विटर पर लिखा, ”असम की बाढ़ से हुए नुकसान के बारे में जानकर बहुत दुःख हुआ। इस संकट की स्थिति में प्रभावित इंसान या जानवर सभी को मदद की जरूरत है। मैं एक एक करोड़ रुपये सीएम रिलीफ फंड और काजीरंगा के लिए डोनेट करना चाहूंगा। सभी से सहयोग की कामना करता हु। काजीरंगा नेशनल पार्क का भी 90 प्रतिशत हिस्सा पानी की चपेट में आया है। ऐसे में वहां के जानवर भी बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। इस पार्क में एक सींग वाले गैंडे की तादाद दुनिया में सबसे ज्यादा है।